शायरी

मुहावरा है , डूबते को तिनके का सहारा..हर कोई उस सहारे की तलाश में है।क्या कहें जनाब, हमे सहारे की ख्वाइश नही…रूहानियत का असर ऐसा के इस नाचीज़ को तिनका ही बनना है। ✍🏻 Prabhamayee Parida