Loneliness – Tanhai

जाना कहाँ हमे ये सवाल खुद से ही पूछें, बस चलते जा रहे हैं, जिस मोड़ पे लेजाए ये ज़िंदगी। कैसे बयान करें क्या चाहत है हमारी, इस सोचमे और ,इस कशमकश में बिता रहे हैं ये ज़िंदगी। यूँ तो ज़माने होगये अपने किस्से सुनाये हुए, खुद से करते हैं बातें, क्यूं की औरसों बितगयेContinue reading “Loneliness – Tanhai”

Missing childhood moments

वो बचपन की बातें, बरसो पुराने यादें, मासूमियत से भरी, छोटी छोटी सरारतें। जमाना वो कुछ और था, दिल मे सच्चा प्यार था, ज़िंदा था इंसानियत रगों में, जीने का अंदाज़ कुछ और था। अब न रहे वो रिस्तो में अपनापन, भीड़ में भी सताये तन्हापन, गुमनाम है इस्क्क़ कहीं दिखावे के आड़ में, पलContinue reading “Missing childhood moments”

Wakt – Time

वक़्त भी एक उलझती पहेली है, कभी आंधी है मुस्किलो से भरा तो कभी उमीद का सवेरा, कभी टूटे सपनो का आशियाना तो कभी अरमानों का बसेरा। वक़्त के साथ यूँ चलते ही जाना है, गिर भी जाए तो खुद ही संभलना है, हार तो है बस पल भर का मेहमान और जीत को हमसफरContinue reading “Wakt – Time”