#wapasi

आज फिर से लौट रही हूं उस जगह,जहां में खुद से रूबरू हुआ था…मुद्दतों के बाद खुद को सवारा था…एक आशियाना सजाया था उन अपनों के संगजिनके साथ होने से खुद को इस काबिल बनाया था.. इस कदर खुस हूं कि आज ये इंतज़ार ख़तम हुआ,मानो फिर से मेरा नया जन्म हुआ… वही गलियां होंगेContinue reading “#wapasi”

Life in city / village

This poem is inspired by the webseries panchayat. आज तकदीर ने ये कैसा मोड़ लाया है,शहर छोड़ कर गांव में खुदको पाया है। सुरुवात का दौर था घुटन से भरा,सजा थी या कुछ और कोई बतादो जरा। शहर की बेपरवाह जिंदेगी याद आती हमे,वीकेंड्स के लेट नाइट पार्टीज फिर बुलाती हमे। चौड़े से सड़केया ऊंचीContinue reading “Life in city / village”

Friendship – yaari

Dedicated to all those special friends of my life  who love me the way I am . अक्सर इस बात का अबसोस मनाया करती..हमेशा इस दुनिया की सिकायत किया करती.. नज़ाने क्यूं लगता था, कोई साथ ही नहीं है..इस बात से डरती थी, कहीं कोई खफा तो नहीं है.. पर आज ये एहसास हुआ कि,कभीContinue reading “Friendship – yaari”

यकीन – Trust

आज फिर मैं एक बार खुद को टटोल रही हूं,आज फिर अपने फैसलों पे सवाल कर रही हूं। क्या इतना आसान है, हर किस्से को मिटा पाना..क्या इतना आसान है, बीते हादसों को भूल जाना… कहते हैं गलती एक बार होती है,बार बार नहीं…फिर से किसिपे यकीन करूं,शायद मुझमें वो हिम्मत नहीं… टूट के बिखरीContinue reading “यकीन – Trust”

A movie review- the taskent files

Today I watched a movie “the taskent files”. I guess hardly anyone have watched it.Initially I thought I will be bored. But when I finished watching, I was in a different zone. This movie is about India’s 2nd prime minister Dr. Lal Bahadur Shastri’s mysterious death. I got to know so many stuffs related toContinue reading “A movie review- the taskent files”

#homealone #metime

बीत गया ये हफ्तामकान के चार दीवारों में…तनहा नहीं थी पर,इन दिनों मसरूफ जरूर थे खुद में… अब तो लगता है नाजानेकैद हैं कितने औरसों से…वक्त बीतेगी कैसे यूं अकेलेडर गए थे इस खयाल से…पर लम्हा गुजरता गया औरहमें पता भी ना चला..ये एहसास पहले कभी हुआ तो नहींशायद चाहने लगे हैं हम खुद से…Continue reading “#homealone #metime”

#coronavirus

देश विदेश में ये कोरोना का आतंक जो छाया है,जानवर हो या इंसान , इससे कोई ना बचपाया है,इसी वायरस से बचने का उपाय science के पास भी नहीं ..फिर भी इस महामारी से लड़ने की अपनी जंग जारी है। नजाने कितने लोग corona के शिकार हुए,तो कितने अभी भी जीने की उम्मीद में आशContinue reading “#coronavirus”

#valentineday or #truelove

किसी तारीख कि जरूरत नहींअपने प्यार के इजहार के लिए…क्यूं की गुनाह नहीं अपने इश्क को जाहिर करना। किसी मौके कि इंतज़ार नहींकिसीको तोफो से नवाजने के लिए..इबादत मिलती है कीसिके होटों पे मुसकुराहट भरना। बेवशी इतनी है गालिब,हर किसीको मुकम्मल ना होती..अपनी जज्बात बयान करने को।वरना किसी “वेलेंटाइन डे” की जरूरतना होती, अशिकी मेंContinue reading “#valentineday or #truelove”

Hindusthan – secular country

किस बात की है ये लड़ाई,क्यूं हो रहे हैं ये दंगे….धरम के नाम परना करवाओ ये पंगे….. हिन्दुस्तान की सरजमीनहक देता हर हिंदुस्तानी को…जाहिर करने को अपनी जज्बातचाहे वो हिंदू हो या मुसलमान को… माना आज़ादी है अपनी बात रखने कीपर इस देश को तबाह करने का अधिकार नहीं…ये राजनीति है जनाब छल कपट कीमजहबContinue reading “Hindusthan – secular country”