Poem, Uncategorized

Happy mother’s day

खुदा से भी ऊंची दरजा है तेरी,
तेरी कोख से सुरु होती दुनिया ये मेरी,
ये जिंदगी तेरी ही देन है मा,
तेरे जैसी ना कोई और है मा।

उंगली पकड़ के चलना तूने सिखाया,
हर मोड़ में मिला मुझे तेरा साया,
इस दुनिया से लड़ पाऊं अपनी वजूद के खातिर,
इस काबिल तूने आज मुझको बनाया।

तेरे गुस्से में भी तेरा प्यार नजर आए,
मेरी लिए तू पूरी दुनिया से लड़ जाए,
ममता की मूरत है तू,
खुदा की इबादत है,
तेरी तारीफ में शायद ये अल्फाज भी कम पड जाए।

Happy mother’s day।
Written by prabhamayee parida