Poem, Uncategorized

Diary – my best friend

औरसों से साथ दिया तूने,
खामोश रहके भी दर्द कम किया तूने,
लगता ऐसा के में तुझमें हुन और तु मुझमें,
मेरी कहानी को खुदमे समाया तूने।

तेरे पन्नो से जुड़ी है ज़िंदगी मेरी,
कुछ न कहा फिर भी सुना दास्तान मेरी,
राज़ रहेंगे मेरी कहानियां ये यकीन है तुज पे,
चाहे वो मुस्कुराहट के पल या जुड़ी हो आँसुओं से मेरी।

कुछ बातें दिल मे दफ़नाए पर जीकर किया तुजसे,
प्यारी यादें या हो टूटे बादें ,कभी न छुपाया तुजसे,
कभी गलेसे लगा के रोई तो कभी गुस्से से कुछ पन्नो को जलाया,
पर इस बदलती दुनिया मे, बस एक किताब नही तू,
जुड़ा गया है एक अनकही रिस्ता तुझसे।

Written by Prabhamayee Parida